सांस्कृतिक राजधानी का संगम है काशी- नरेंद्र मोदी

pm

सांस्कृतिक राजधानी का संगम है काशी- नरेंद्र मोदी
वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

वाराणसी/कृष्णानन्द शर्मा

*पूरे भारत को अपने आप में समेटे हमारी सांस्कृतिक राजधानी काशी है, देश में संगमों का बड़ा महत्व रहा है।*

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी काशी तमिल संगमम में बोले, देश में संगमों का बड़ा महत्व रहा है। नदियों और धाराओं के संगम से लेकर विचारों-विचारधाराओं, ज्ञान-विज्ञान और समाजों-संस्कृतियों के संगम का हमने जश्न मनाया है। इसलिए काशी तमिल संगमम् अपने आप में विशेष है,अद्वितीय है। एक ओर पूरे भारत को अपने आप में समेटे हमारी सांस्कृतिक राजधानी काशी है, तो दूसरी और, भारत की प्राचीनता और गौरव का केंद्र, हमारा तमिलनाडु और तमिल संस्कृति है। ये संगम भी गंगा यमुना के संगम जितना ही पवित्र है। काशी और तमिलनाडु दोनों शिवमय हैं, दोनों शक्तिमय हैं। एक स्वयं में काशी है, तो तमिलनाडु में दक्षिण काशी है।

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी दो लाइन बोल कर रूक रहे थे फिर दुभाषियां इसे तमिल में अनुवाद कर रहे थे। काशी में बाबा विश्वनाथ हैं तो तमिलनाडु में भगवान् रामेश्वरम् का आशीर्वाद है। काशी और तमिलनाडु, दोनों शिवमय हैं, दोनों शक्तिमय हैं।

एक स्वयं में काशी है, तो तमिलनाडु में दक्षिण काशी है। 'काशी-कांची' के रूप में दोनों की सप्तपुरियों में अपनी महत्ता है।

भारत वो राष्ट्र है जिसने हजारों वर्षों से 'सं वो मनांसि जानताम्' के मंत्र से एक दूसरे के मनों को जानते हुये, सम्मान करते हुये स्वाभाविक सांस्कृतिक एकता को जिया है,